महंगाई से थोड़ी राहत, जनवरी में घटकर 5.1% पर आई खुदरा मुद्रास्फीति

0
210
महंगाई से थोड़ी राहत, जनवरी में घटकर 5.1% पर आई खुदरा मुद्रास्फीति
महंगाई से जुझ रही आम जनता के लिए राहत भरी खबर आई है। भारत की खुदरा मुद्रास्फीति इस साल जनवरी में घटकर 5.1 प्रतिशत हो गई, जो दिसंबर 2023 में 5.69 प्रतिशत थी। सोमवार को यह आधिकारिक आंकड़ें जारी किए गए है। इससे घरेलू बजट में कुछ राहत मिली। खाद्य मुद्रास्फीति कुल उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) का लगभग आधा हिस्सा है। यह दिसंबर में 9.05 प्रतिशत से गिरकर जनवरी में 8.3 प्रतिशत हो गई। हालांकि, महीने के दौरान सब्जियों, दालों और मसालों की कीमतों में बढ़ोतरी दर्ज हुई है। इसी बीच राहत की बात रही कि कि खाना पकाने के लिए तेल की कीमतों में गिरावट आई है।

सब्जियों और दालों की कीमत में नहीं मिली राहत

Bhushan Jewellers

आंकड़ों से पता चलता है कि सब्जियों की कीमतें 27.03 प्रतिशत तक बढ़ गईं, जो दिसंबर के दौरान 31.34 प्रतिशत से कम थी। जहां तक दालों का सवाल है, कोई राहत नहीं मिली। वे 19.54 प्रतिशत महंगी हो गईं, जबकि मसाले 16.36 प्रतिशत महंगे हो गए। अनाज की कीमतें जनवरी में 7.83 फीसदी बढ़ीं, जो दिसंबर में 9.53 फीसदी थीं।

Advt Classified

छह बार रेपो दर 6.5% पर बरकरार

Advt Classified

उपभोक्ता मूल्य मुद्रास्फीति अब आरबीआई के 2-6 प्रतिशत टारगेट के बीच से थोड़ा ऊपर है। यही कारण है कि आरबीआई आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए ब्याज दरों में कटौती नहीं कर रहा है। आरबीआई मुद्रास्फीति को नियंत्रण में रखना चाहता है और उसने अपनी द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षाओं में लगातार छह बार रेपो दर को 6.5 प्रतिशत पर बरकरार रखा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here