तीन पुलिस कर्मियों सहित आठ और आरोपी गिरफ्तार

0
575

तीन पुलिस कर्मियों सहित आठ और आरोपी गिरफ्तार,
क्रिप्टो करंसी घोटाला में एसआईटी की कार्रवाई
अरेस्ट किए गए लोगों में एक महिला पुलिसकर्मी भी शामिल
शिमला
क्रिप्टो करंसी घोटाले को लेकर डीआईजी अभिषेक दुल्लर के नेतृत्व में हिमाचल पुलिस की एसआईटी ने रविवार को तीन पुलिसकर्मियों सहित आठ और आरोपियों को गिरफ्तार किया है। एसआईटी द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपियों में एक फोरेस्ट गार्ड भी शामिल है। मामले में एसआईटी अब तक 18 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। एसआईटी की इस कार्रवाई से क्रिप्टो करंसी फ्रॉड से जुड़े लोगों में हडक़ंप मच गया है।

Bhushan Jewellers

प्राप्त जानकारी के अनुसार एसआईटी ने मामले में पुलिस थाना भवारना के पुलिसकर्मी नरेश कुमार निवासी समलेहरा तहसील जोड़े अंब, जिला हमीरपुर को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा ऊना की बनगढ़ जेल के वार्डन सुनील कुमार निवासी बिझड़ी जिला हमीरपुर, कृष्ण दत्त निवासी मोहन जिला हमीरपुर, नादौन में फोरेस्ट गार्ड राम कुमार राणा निवासी सुजानपुर टिहरा को गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा एसआईटी ने हमीरपुर के जाहू में तैनात महिला पुलिसकर्मी ज्योति पत्नी पंकज राणा निवासी मोरसू, तहसील बड़सर को भी गिरफ्तार किया है।

Advt Classified

इसके अलावा बद्दी के मानपुरा में नील धीमान निवासी खरूनी मानपुरा, नालागढ़ और पुलिस बटालियन जंगल बैरी के पुलिसकर्मी बलवीर सिंह निवासी छत्तरायाना तहसील सरकाघाट, जिला मंडी और गुरदीप सिंह निवासी नालागढ़ को गिरफ्तार किया गया है। इन सभी आरोपियों पर क्रिप्टो करंसी के नाम पर लोगों को ठगने के आरोप हंै। गौर हो कि मंडी जिला के सुभाष और उसके साथियों ने करीब अढ़ाई लाख आईडी बनाकर क्रिप्टो करंसी के नाम पर प्रदेश की जनता को करोड़ों का चूना लगाया है। क्रिप्टो करंसी के नाम पर ठगी के इस स्कैम में करीब एक लाख लोग शामिल बताए जा रहे हैं। अब तक की जांच में दो हजार करोड़ से अधिक की ट्रांजेक्शन मिली हैं। क्रिप्टो करंसी ठगी मामले के तीन मास्टरमाइंड समेत दस लोगों को पुलिस की एसआईटी पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी। घोटाले का किंगपिन मंडी का सुभाष शर्मा देश छोडकऱ विदेश भाग चुका है।

Advt Classified

क्रिप्टो क्वाइन और अलग-अलग वेब साइट के जरिए करोड़ों की ठगी को अंजाम दिया गया। करोड़ों के स्कैम में आम लोगों के साथ-साथ पुलिस विभाग के कई कर्मचारी भी बड़ी संख्या का शिकार हुए हैं। बताया जा रहा है कि हिमाचल पुलिस के कई कर्मचारियों ने समय से पहले सेवानिवृत्ति लेकर इस काली कमाई को चुना है। शातिरों ने लाखों लोगों को पैसा फर्जी क्रिप्टो करंसी में लगाकर दोगुना देने के नाम पर ठगा है। डीजीपी संजय कुंडू ने बताया कि एसआईटी ने करोड़ों की ठगी मामले में तीन पुलिस कर्मियों सहित आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रही है। ठगी में शामिल लोगों को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा।

एसआईटी ने करोड़ों की ठगी मामले में तीन पुलिसकर्मियों सहित आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। ठगी में शामिल लोगों को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा संजय कुंडू, डीजीपी, हिमाचल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here